आईटी क्षेत्र की प्रमुख कम्पनी आईबीएम आईएक्स के बाद आईबीएम ब्लॉकचेन का इस्तेमाल येलो पेज एनालॉग के लिए निर्धारित करने जा रही है। इस समबनध में कम्पनी की तरफ से आधिकारिक रूप से जानकारी साझा की गयी है। जिसमें बताया गया है की कम्पनी अनबाउंड रजिस्ट्री नामक पहल में शामिल हुआ है जो की डेसेंट्रलाइज़्ड क्रास ब्लॉकचेन पर आधारित है। इसके माध्यम से येलो पेज एनालॉग को क्रियान्वित किया जा रहा है।

ब्लॉकचेन संचालित ट्रैकर

गौरतलब है की जून माह के अंत में आईबीएम के बिजनेस और टेक कंसल्टिंग विंग, सॉफ़्टवेयर आपूर्तिकर्ता मीडिया के साथ साझेदारी में, डिजिटल मीडिया लेनदेन के लिए मीडिया एक ब्लॉकचेन संचालित ट्रैकर लॉन्च किया था। जिसे आईबीएम आईएक्स नाम दिया गया था। हाल ही में विभिन्न प्रकार के ब्लॉकचेन समाधानों में पंजीकरण, देखने, जुड़ने और लेनदेन करने के लिए एक विकेन्द्रीकृत साधन प्रदान करने के लिए जो स्टार्टअप डिज़ाइन किया गया है। उसे अनबाउंड रजिस्ट्री का नाम दिया गया है और इसी प्रणाली में आईबीएम भी शामिल हुआ है।

इसके ज़रिये सेवाओं की एक विशेष लिस्ट तैयार की गयी है जिसमें ब्लॉकचेन परियोजनाओं के लिए आरक्षित नामकरण, ब्लॉकचेन नेटवर्क और अनुप्रयोगों की खोज, और डोमेन-विशिष्ट कार्यों के बारे में जानकारी मुहैया कराई गयी है। रजिस्ट्री के अन्य सदस्यों में इंटेल, चीनी तकनीक विशाल हूवेई, बटाविया, हिताची और ऑस्ट्रेलियाई ब्लॉकचेन एसोसिएशन शामिल हैं।

कॉइन टेलीग्राफ के मुताबिक आईबीएम ब्लॉकचेन के माध्यम से अभी तक शिपिंग विभाग से लेकर मोबाईल पेमेंट और सार्वजनिक क्षेत्र की सेवाओं को सक्षम और अधिक प्रभावी बना चुका है। यह पहला मौका है जब कम्पनी येलो पेज एनालॉग में हस्तक्षेप कर रही है। इससे पहले अगस्त माह में आईबीएम और डेनिश परिवहन और रसद विशाल मार्सक ने संयुक्त रूप से अपने वैश्विक ब्लॉकचेन-सक्षम शिपिंग समाधान की शुरुआत की थी। बतौर आइरिशटेक न्यूज़ येलो पेज एनालॉग को लेकर आईबीएम के प्रयास काफी सार्थक होंगे जबकि अन्य कंपनियों की भागीदारी से रजिस्ट्री को और अधिक मज़बूती मिलेगी।

[The views and opinions expressed in this article are those of the authors and do not necessarily reflect the views and/or the official policy the website. ]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here